13 C
New York
Sunday, April 18, 2021
Homeभोपालनगरीय निकाय चुनाव की तैयारी, कांग्रेस और भाजपा में अभी से शह...

नगरीय निकाय चुनाव की तैयारी, कांग्रेस और भाजपा में अभी से शह और मात का खेल शुरु

भोपाल। मध्यप्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव की तैयारियां शुरू हो गई है इसके बाद विभिन्न पार्टी दल भी अलग-अलग नीतियों के साथ मैदान में उतर गई है निकाय चुनाव की तैयारियों को लेकर सत्तारूढ़ भाजपा और विपक्षी कांग्रेस में शह और मात का खेल शुरू हो गया है दोनों ही दलों ने इस बार तय कर लिया है कि उम्र दराज नेताओं से किनारा किया जाएगा और वंशवाद के स्थान पर चुनाव जीतने योग्य प्रत्याशियों को ही क्षेत्र की जनता की पसंद के आधार पर पार्टी प्रत्याशी बनाया जाएगा एक तरफ जहां बीजेपी ने नगरीय निकाय चुनाव के लिए नेताओं की निकायवार ड्यूटी लगाना शुरू कर दी है वहीं दूसरी तरफ कांग्रेसी मास्टर स्ट्रोक लगाने की तैयारी में है ताकि विधानसभा उपचुनाव में हुई हार का जोरदार बदला लिया जा सके ।

दो चरणों में हो सकते हैं चुनाव –

बता दें कि राज्य निर्वाचन पदाधिकारी पहले से ही कह चुके हैं कि मध्य प्रदेश में मार्च के पहले सप्ताह तक मतदाता सूची बनकर तैयार हो जाएगी वही माना जा रहा है कि मार्च के दूसरे या तीसरे सप्ताह तक निर्वाचन आयोग द्वारा नगरीय निकाय चुनाव के लिए कार्यक्रम घोषित कर दिया जाएगा नगरीय निकाय चुनाव में दो चरणों में चुनाव कराने की तैयारी की जा रही है जिसके बाद दोनों पार्टियों द्वारा नई रणनीतियों के तहत मैदान में उतरने की तैयारी शुरू कर दी गई है ।

10 फरवरी को कांग्रेस की बड़ी बैठक –

अभी नगरीय निकाय की तारीखों का ऐलान नहीं हुआ है लेकिन कांग्रेस कमर कसकर तैयार है निकाय चुनाव की तैयारी के लिए पीसीसी चीफ कमलनाथ ने 10 फरवरी को बड़ी बैठक बुलाई है यह बैठक निकाय चुनाव प्रभारियों सह प्रभारी यों के साथ होगी जिसमें उम्मीदवार चयन को लेकर अब तक उठाए गए कदमों पर चर्चा होगी और फीडबैक लिया जाएगा कांग्रेस पार्टी ने तय किया है कि नगरीय निकाय चुनाव में पार्टी पदाधिकारियों से लेकर यूथ कांग्रेस के पदाधिकारियों की ड्यूटी लगाई जाएगी एक निकाय पर एक विधायक एक पदाधिकारी और एक यूथ कांग्रेस के नेता को तैनात किया जाएगा साथ ही महिला कांग्रेस और दूसरे संगठन के पदाधिकारी भी निकाय वार तैनात किए जाएंगे चुनाव में प्रत्याशी चयन को लेकर कांग्रेस की नीति 50 युवा नेताओं को टिकट देने की है वहीं दूसरी तरफ पार्टी द्वारा तय किया गया कि सहमत बनने पर विधायक को महापौर पद का उम्मीदवार बनाया जा सकेगा ।

विधायकों पर होगा दारोमदार –

इस मामले में पार्टी के पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा का कहना है कि कांग्रेस पूरे दमखम के साथ मैदान में उतरेगी वही सभी विधायकों को अपने-अपने क्षेत्रों की जिम्मेवारी सौंपी जाएगी यह विधायकों पर होगा कि यह अपने क्षेत्र के पार्टी प्रत्याशी को जीत दिलाएं वही नगरीय निकाय चुनाव में प्रदेश कांग्रेश युवा कांग्रेस महिला कांग्रेस सहित सभी संगठनों की जिम्मेवारी तय की जाएगी ।

Pratap Bhuriyahttp://jhabuaalert.com
News and media company. Editor of chief - Pratap bhuriya Contact - +918815814201
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments