13 C
New York
Thursday, April 15, 2021
Homeधारपत्नी ने अपनी बेटी व एक अन्य व्यक्ति के साथ मिलकर की...

पत्नी ने अपनी बेटी व एक अन्य व्यक्ति के साथ मिलकर की थी अपने ही पति की हत्या

Advertisement

धार। 18 जनवरी 2021 को थाना राजोद के माही डेम के चौकीदार को डेम की दीवार के किनारे एक दरी में लिपटी हुई लाश मिली थी। जिसकी सूचना मिलने पर थाना प्रभारी राजोद ने टीम के साथ घटना स्थल पर पहुँचे। जहां दरी में खून से सना हुआ एक शव मिला। राजोद पुलिस द्वारा शव को पोस्टमार्टम हेतु भेजा गया। अज्ञात मृतक की शिनाक्त हेतु राजोद पुलिस द्वारा अज्ञात मृतक की सूचना व फोटो नजदीक जिलें झाबुआ व धार जिलें के विभिन्न थानों एवं स्थानीय व्हाट्सअप ग्रुपो में भेजी गई। जिससे मृतक की शिनाख्त 19 जनवरी 2021 को सुखराम पिता नाथू निनामा उम्र 40 साल निवासी ग्राम कुण्डाल थाना पेटलावद जिला झाबुआ के रूप में हुई। पी.एम. रिपोर्ट प्राप्त होने पर मृतक की मृत्यु सिर में आई चोटों के कारण होना पाया गया। पुलिस को पता चला कि मृतक सुखराम प्रायवेट बस पर कंडक्टरी करने का काम करता था एवं वह पिछले एक साल से एक तलाकशुदा महिला रेखाबाई के साथ रह रहा था। मृतक की पत्नी रेखाबाई पेटलावद-बामनिया रोड़ किनारे चापल्दा घाटी के किनारे चाय व गुटखा-तम्बाकू की दुकान चलाती थी। जिस पर वह अवैध शराब व पेट्रोल भी बेचने का धंधा करती थी। दुकान पर बैठने के कारण उसकी कई ग्राहको से दोस्ती भी होने से मृतक सुखराम उस पर चरित्र शंका करता था। इसी कारण से आए दिन मृतक व उसकी पत्नी के बीच झगडा व मारपीट भी होती थी। इन्ही कारणों के कारण मृतक सुखराम की हत्या की सुई उसकी पत्नी रेखाबाई पर आकर रूकी। राजोद पुलिस द्वारा रेखाबाई से पूछताछ की गई। पुलिस पूछताछ के दौरान वह घबराकर कभी कुछ व कभी कुछ बयान देने लगी। पुलिस द्वारा सख्ती से पूछताछ करने पर वह पुलिस के सामने टूट गई एवं उसने अपने पूर्व बेटी माया (पूर्व पति दुलेसिंह की बेटी) एवं मनोज पिता गुलाब मेडा के साथ अपने पति सुखराम की फावडा मारकर हत्या करना कबूल किया।

आरोपिया रेखाबाई ने पुलिस को बताया कि वह अपने पति दुलेसिंह को छोडकर अपनी बेटी माया के साथ एवं सुखराम के साथ विगत एक साल से रह रही थी। मेरे घर मनोज पिता गुलाब मेडा निवासी पेटलावद का भी आना जाना है, जो मुझे माँ के समान मानता था परंतु सुखराम हमेशा से ही मुझ पर चरित्र शंका कर गंदे-गंदे आरोप लगाता था। शराब पीकर आए दिन मारपीट करता था। 17 जनवरी 2021 शाम को मनोज मेरे घर बैठा था, मेरी बेटी माया भी साथ थी, तो रात करीब 11 बजे सुखराम घर आया एवं मनोज को देखकर मारपीट करने लगा। मनोज व सुखराम के बीच मारपीट व धक्कामुक्की होने से सुखराम नीचे गिर गया, जिस पर से मैंने भी गुस्से में आकर उसके सर पर 3-4 बार पास में रखा हुआ फावडा मार दिया एवं मनोज ने भी 2-3 फावडे मारकर उसे मौत के घाट उतार दिया। लाश को माया, मनोज व मैंने एक दरी में रखा तथा उसे दूर कही फेकने का हमने प्लान बनाया।

एक व्यक्ति तोलिया जिसके पास फोर्स वाहन है, मैंने उसे फोन लगाकर माँ के इलाज हेतु उसका वाहन किराये पर बुलाया तथा उसमें हम तीनों ने सुखराम की लाश रखी तथा लाश को माही डेम में फेक आए थे। आरोपिया की निशादेही पर पुलिस ने उसकी बेटी माया व मनोज को भी गिरफ्तार किया। जिन्होने अपराध स्वीoकार कर लिया है।

Pratap Bhuriyahttps://jhabuaalert.com
News and media company. Editor of chief - Pratap bhuriya Contact - +918815814201
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments


www.hamarivani.com