रालसा द्वारा प्रतियोगी बच्चों को मेडल/घडी व गर्म स्वेटर प्रदान कर सम्मानित किया गया

प्रतापगढ़ । राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार एवं माननीय अध्यक्ष महोदय, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण(जिला एवं सेशन न्यायाधीश्) के सान्निध्य में हाल ही में विधिक सेवा दिवस, 09 नवम्बर, 2020 के उपलक्ष में रालसा द्वारा बाल गृहों में निवासरत बालक/बालिकाओं के मध्य राज्य स्तर पर पोस्टर-पेंटिंग, निबन्ध लेखन, स्लोगन लेखन, कविता/गीत लेखन एवं कहानी लेखन प्रतियोगिताओं में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्तकर्ताओं को पुरस्कृत करने हेतु आज दिनांक 05 जनवरी, 2020 को वर्चुअल माध्यम से पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया गया।

बालगृहों को माननीय रालसा के निर्देशानुसार वर्चुअल माध्यम से जोड़ा जाकर सभी विजेताओं को पदक, प्रमाण-पत्र, घडी व गर्म स्वेटर प्रदान कर सम्मानित किया गया जिसमें श्रीमान् आलोक सुरोलिया(जिला एवं सेशन न्यायाधीश) प्रतापगढ़, श्री लक्ष्मीकांत वैष्णव, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, प्रतापगढ़, श्री योगेश कुमार शर्मा रिटायर्ड जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं श्री लक्ष्मणराम बिश्नोई मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रतापगढ़ ने सम्बोधित किया।

सम्बन्धित खबरे 👇

जिओ दे रहा है अपने सभी उपभोक्ताओं को यह खास ऑफर जाने 

प्राधिकरण के सचिव श्री लक्ष्मीकांत वैष्णव(अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश) ने बताया कि प्रतिवर्ष विधिक सेवा दिवस 09 नवम्बर के उपलक्ष में प्राधिकरण द्वारा खेल-कूद प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती है। इन प्रतियोगिताओं का उद्देष्य बच्चों के अन्दर खेल-खेल में विधिक जागरूकता का प्रचार-प्रसार करना है और प्रतियोगिताओं के समापन के पश्चात् खेल के विभिन्न स्तरों पर प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्तकर्ता प्रतिभागियों को उपहार देकर सम्मानित किया जाता है एवं उनका उत्साहवर्धन किया जाता है। इस वर्ष कोविड-19 को दृष्टिगत रखते हुए बाल गृहों में प्रतियोगिताओं का तीन आयु वर्ग 06 से 10, 11 से 15 व 16 से 18 के मध्य पोस्टर-पेंटिंग, निबन्ध लेखन, स्लोगन लेखन, कविता/गीत लेखन एवं कहानी लेखन प्रतियोगिताओं का आयोजन गृह, जिला एवं राज्य स्तर पर किया गया है। आज दिनांक 05 जनवरी, 2020 को वर्चुअल माध्यम से पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया जाकर राज्य स्तर पर प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्तकर्ताओं को सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम में वात्सल्य बालिका आश्रय गृह प्रतापगढ़ से श्रीमती हेमलता जैन, संतोष मीणा तथा ललिता मीणा ने बालिकाओं के साथ भाग लिया तथा राजस्थान आदिम जाति सेवक संघ की ओर संचालित निराश्रित बाल गृह के बालकों ने भी भाग लिया।

नोकरी के अवसर 

LIC दे रहा है रतलाम में 1200 लोगो को रोजगार के अवसर जाने कैसे 

Share on: